50+ Bhokebaaz Dost Shayari in Hindi | Dhokebaaz Shayari

Dhokebaaz Shayari – दोस्तों आज हम आपको यह Dhokebaaz Shayari पढ़ाने जा रहे जो आपको भाऊत ज्यादा पसंद आएगी क्योंकि आज के समय मे साथ देने वाला कोई मिले या न मिले लेकिन धोका देने वाले बहुत मिल जाते है इस लिए आज हम आपको यह Dhokebaaz Shayari पढ़ाने जा रहे जो आप अपने उस दोस्त को भेज सकते हो जिसने आपकी मुसीबत के समय साथ न देकर आपको धोका दिया है।

तो आइए पढ़ा जाए इन सभी Dhokebaaz Shayari को और इसे शेयर भी किया जाए क्योंकि धोका देने वाले ये समझते की उन्होंने धोका देकर आपसे पल्ला झाड़ लिया लेकिन उनको यह नहीं मालूम होता की किस्मत कब किसको कहा पहुचा दे कुछ नहीं कह सकते है।

 

Dhokebaaz Shayari in Hindi

अब आइए आपको हम यह Dhokebaaz Shayari in Hindi पढ़ाने जा रहे जो आपको बहुत ज्यादा पसंद आएगी क्योंकि यह Dhokebaaz Shayari आपको अपने उन दोस्तों की याद दिलाएगी जिसने आपको कभी मुसीबत मे धोका दिया था।

 

देखि है ज़माने की दोस्ती,
और दोस्तों के धोखे,
देखा है अपना बन कर,
अपनों को लूटते.,

 

ऐ दोस्त दोस्त बन कर,
मुझे लूट ना जाना,
दोस्ती के नाम को,
ऐसे बदनाम ना कर जाना.,

 

जिसकी दोस्ती के लोग,
मिसाल दिया करते थे,
वो दोस्त आज दोस्त ना रहा,
मेरे साथ चलने को,
कोई अपना ना रहा.,

 

देखि यारों की यारी,
और दुनिया की दुनिया दारी,
सब अपना अपना देख लेते है,
वक़्त आने पे साथ छोड़ देते है.,

 

दोस्ती के नाम पर कलंक था वो हटा दिया,
मिली हर दफा बेवफाई उससे,
उसका नाम ही ज़िन्दगी से हमेशा के लिए, मिटा दिया.,

 

अपने दुश्मनो को भी माफ़ कर दिया मेने,
तुम तो खेर दोस्त थे तुमसे क्या बदला लेंगे.,

 

Crush Shayari

 

आजकल दोस्ती में यूँ मंजर दीखते है,
हर एक दोस्त के हाथ में नुकीले खंजर दीखते है.,

 

चार दिन बाज़ के नहीं उड़ने से,
आसमान कबूतरों का नहीं हो जाता.,

 

देखो किस तरह हक़ को हरा धोखेबाजी जीती है,
कितनी निचे गिर चुकी हमारी यह दोस्ती है.,

 

ये सांपो की बस्ती है ज़रा देख के चल नादान,
यहां का हर शख्स बड़े प्यार से डस्ता है.,

 

दिल तोड़ना और धोखेबाजी तो आम सा खेल है,
आजकल सच्चा प्यार करने वालो की बन जाती रेल है.,

 

हमें मालूम था की मेरा क़ातिल साथ है मेरे ,
मगर पहचानने में थोड़ी देर कर दी हमने.,

 

तुम ड्रग्स तस्करी करती हो,
कर लो थोड़ी सी लाज प्रिये,
मैं भोला भला सुशांत सिंह,
तुम रिया सी धोखेबाज़ प्रिये.,

 

dhokebaaz shayari

 

जो धोखा करना सीख जाते है जनाब,
हर सख़्श उन्हें धोखेबाज़ लगते है.,

 

हर खेल में हम बाजी मार जाते हैं,
पर धोखेबाज से हम बाजी हार जाते हैं.,

 

धोखेबाजों का चलन है साहब,
वफ़ा करने वालो की कहाँ कदर है.,

 

जमाने को अच्छा समझा, लेकिन वो चालबाज निकला,
अपने को अपना समझा, लेकिन वो धोखेबाज निकला.,

 

उसकी यादें सदाबहार है,
मगर अब वो मेरी पहुंच से बाहर है,
पाकर भी करूंगा क्या,
वो तो हमेशा से एक धोखेबाज है.,

 

मेरी यारी का उसने अच्छा परिणाम दिया,
मेरी मुशीबत मे उसने मुझको ही भुला दिया.,

 

धोखेबाज तो हज़ारों मिलेंगे ज़िन्दगी में,
इसका मतलब ये तो नही,
की हम भरोसा करना छोड़ दे.,

 

तुम धोका करो तब भी धोखेबाज नहीं,
हम वफा करें तो भी गुनहगार है,
ये खता तेरी नहीं जान मेरी,
ये तो वक़्त-वक्त की मार है.,

 

धोखा खानेवाले भी क्या एहसान फरमाते हैं,
दुनिया से एक धोखेबाज की पहचान करवाते हैं.,

 

झूठी हमदर्दी झूठा प्यार यही सच्चाई है,
एक धोखेबाज इश्क करने वालों की.,

 

वो तो मेरी किस्मत ही धोखेबाज थी,
वरना वो फरिश्ता तो मेरा ही था.,

 

dhokebaaz shayari

 

तेरी दोस्ती ने दिए सुकून इतना,
कि तेरे बाद कोई भी अच्छा न लगे,
तुझे करनी हो बेवफाई तू इस अदा से करना,
कि तेरे बाद कोई भी बेवफा न लगे.,

 

उसने तोडा वो ताल्लुक़ जो हमारी हर बात से था,
उसको दुःख न जाने मेरी किस बात से था,
सिर्फ ताल्लुक़ रहा, लोगों की तरह वो भी,
जो अच्छी तरह वाकिफ मेरी हर बात से था.,

 

जब दोस्त ही शामिल हो दुश्मनों की चाल में,
तब शेर भी फास जाता है मकड़ी की जाल में.,

 

ज़िन्दगी बदलती है वक़्त के साथ,
वक़्त नहीं बदलता दोस्तों के साथ,
बस दोस्त बदल जाते है वक़्त के साथ.,

 

बहुत रंगीन ये ज़माना हर शख्स ने रंग दिखाया हैं,
दग़ाबाज़ी करना हमे दोस्तों ने सिखाया है.,

 

अगर तुम मुझसे पूछते हो कि प्यार क्या होता है,

तो बस इतना कहूँगा पल पल मरना है तो प्यार कर लेना.,

 

ले लो वापस दिखाए थे झूठे सपने जो तुमने मुझको,

शायद इसकी जरुरत पड़े अगले शिकार में तुझको.,

 

Busy Shayari

 

जब वफा की बात आयी तो हम ने,
दिल निकाल कर हथेली पर रख दिया,
वो कहने लगे कोई और बात करो,
ऐसे खिलोनो से हम रोज़ खेलते हैं.,

 

आज किसी की दुआ की कमी है,
तभी तो हमारी आँखों में नमी है,
कोई तो है जो भूल गया हमें,
पर हमारे दिल में उसकी जगह वही है.,

 

एक अजीब दास्तान है मेरे अफसाने की,
मैने पल पल कोशिश उसके की पास जाने की,
किस्मत थी मेरी या साजिश थी ज़माने की,
दूर हुई मुझसे इतना जितनी उमीद थी करीब आने की.,

 

मेरी यादें मेरा चेहरा मेरी बातें रुलायेंगी,
हिज़्र के दौर में गुज़री मुलाकातें रुलायेंगी,
दिनों को तो चलो तुम काट भी लोगे फसानों मे,
जहाँ तन्हा मिलोगे तुम तुम्हे रातें रुलायेंगी.,

 

dhokebaaz shayari

 

चलो तुमसे धोखा खाने के बाद हमें ये तो समझ आया,
बेवफा है ये दुनिया इसलिए अब हमें किसी से दिल नही लगाना.,

 

इस कदर तुमने हमारा इस्तेमाल किया कि पुरे टूट चुके है हम,
काश तुम हमारी जिंदगी में आते ही नहीं कम से कम न मिलता हमें ये गम.,

 

हमने तो वादा जिंदगी भर साथ निभाने का किया था,
पर हमें क्या पता था कि इस रिश्ते का अंत ही नहीं था.,

 

तुम मेरे लिए खास थी क्योंकि प्यार जो तुमसे इतना था,
फिर भी तुमने धोखा दिया पता नहीं क्या थी हमारी खता.,

 

मान तो तुझे हमने अपना भाई ही लिया था,
पर काम तो तूने दुश्मनो वाला किया है.,

 

नहीं जानता मैं ये, कि तुम्हारे लिए कितनी खास थी वो,
पर याद रखना इस बात को कि अब दुखी तुम उसी की वजह से हो.,

 

जिंदगी में कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है,
और मजबूत बनने के लिए दर्द भी सहना पड़ता है.,

 

इस पोस्ट में आपको हमने स्पेशल Dhokebaaz Shayari पढाई जो हम आशा करते की आपको बेहद पसंद आई होगी अगर हां तो आप अगली बार हमरी Hindi shayari की बाकि शयरी जरुर पढ़े.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *