50+ Gum Bhari Shayari Hindi Mai with Image | Gam Shayari

Gam Shayari – दोस्तों आज हम आपको यह Gam Shayari पढ़ाने जा रहे जो आपको बहुत ज्यादा पसंद आएगी साथ मे आप इन सभी Gam Shayari को पढ़ कर अपने सभी गम को पूरी तरह से भूल सकते हो क्योंकि आज के समय मे लोगों को जरा से बाट पर गम होने लगता लेकिन यह सही नहीं इससे आपकी सेहत पर बुरा असर पढ़ता है।

इस लिए आइए पढिए इन सभी Gam Shayari को और फिर इन सभी Gam Bhari Shayari को अपने दोस्तों मे भी शेयर करिए जिसे हर बात पर उदास हो जाता है तो आइए साथ मे पढे इन सभी Hindi Shayari Gam Bhari को और अपने सभी गम को कम भी करे इन गम शायरी की मदद से।

Gum Bhari Shayari Hindi Mai

अब आपको हम यह स्पेशल Gum Bhari Shayari Hindi Mai पढ़ाने जा रहे जो आपको बहुत ज्यादा पसंद आएगी साथ मे आप इन सभी Gam Shayari को अपने दोस्त को शेयर करके उनके गम के साथ बन सकते हो।

 

गुजर जायेगा ये वक़्त भी,

ज़रा सबर तो कर,

जब खुशिया ना ठहरी तो,

गम की क्या औकात है.,

 

मजबूर ना करेंगे तुझे,

वादे निभाने के लिए,

तू एक बार वापस आ,

अपनी यादें ले जाने के लिए.,

 

बहुत रोएगी जिस दिन उसे,

मेरी याद आएगी,

बोलेगी एक पागल था जो सिर्फ,

मेरे लिए पागल था.,

 

लिबाज़ देख के हमें इतना करीब न जान,

हमारे गम तेरी जायदाद से ज्यादा है.,

 

मेरी गहरी ख़ामोशी में,

सन्नाटा भी है शायर भी है,

तूने ठीक से देखा ही नहीं,

इन आँखों में कुछ और भी है.,

 

जब तेरे दर्द में दिल दुखता था,

हम तेरे हक़ में दुआ करते थे.,

 

गिराया जिसे अपनों ने वो उठकर फिर क्या करता,
परायों से जो लड़ा नहीं वो अपनों से क्या लड़ता.,

 

तेरी बातों का असर जो छाया है मेरे दिल पर,
यक़ीनन मुझे तड़पाएगा अब ये रात भर,
सोचा भूल जाऊंगा तुझे अब करूँगा ना याद,
मगर दर्द ही मिला मुझे, तुझे भूल कर.,

 

Alvida Shayari

 

क्या प्यार में सोचा था, क्या प्यार में पाया हैं,
तुझको मिलाने की चाहत में, खुद को मिटाया हैं,
इस पर भी कोई इलज़ाम, ना तुझ पर लगाया हैं,
मेरी ही ख्वाईशो ने, आज मुझे अर्थी पर सुलाया हैं.,

 

यह ग़ज़लों की दुनिया भी अजीब है,
यहाँ आँसुओं का भी जाम बनाया जाता है,
कह भी देते हैं अगर दर्द-ए-दिल की दास्तान,
फिर भी वाह-वाह ही पुकारा जाता है.,

 

कसम से सब्र की इन्तहा हो चली हैं,
दर्द-ए-दिल कहना हैं अब मुश्किल,
और येह आँखें वीरान हो चली हैं.,

 

ज़िन्दगी के उलझे सवालो के जवाब ढूंढता हु,
कर सके जो दर्द कम, वोह नशा ढूंढता हु,
वक़्त से मजबूर, हालात से लाचार हु मैं,
जो देदे जीने का बहाना ऐसी राह ढूंढता हु.,

 

आखिर क्यों मुझे तुम इतना दर्द देते हो,
जब भी मन में आये क्यों रुला देते हो,
निगाहें बेरुखी हैं और तीखे हैं लफ्ज़,
ये कैसी मोहब्बत हैं जो तुम मुझसे करते हो.,

 

ज़हर को दूध समझ कर कैसे पिया जाये,
दिल हो अगर ज़ख़्मी तो उसे कैसे सिया जाये.,

 

मेरी दिल की दर्द सुनकर उसकी आँख भर आयी,
मेरी दर्द-ऐ-दास्ताँ सुनके कुछ कह ना पायी,
हम इतना दर्द सहकर कुछ ना बोले,
वो है की अपने आंसू को रोक ना पायी.,

 

ज़िंदगी एक चाहत का सिलसिला है,
कोई मिल गया कोई बिछड़ गया,
जिसे माँगा था हमने अपनी दुआओं में,
वो किसी और को बिना मांगे मिल गया.,

 

मेरे दिल के दर्द को किसने देखा है,
मुझे बस खुदा ने तड़पते देखा है,
हम तन्हाई में बैठे रोते हैं,
लोगों ने हमें महफ़िल में हँसते देखा है.,

 

ज़िंदगी से हमे कोई शिकायत नहीं,
जी तो रहे हैं पर ख़ुशी से नहीं,
हर शख्श ने दुःख भी बहुत दिये,
पर हम किसी से नाराज भी नहीं.,

 

दर्द सहकर भी दिल उन्हें प्यार करता है,
जुदा होकर भी उन्हें ही याद करता है,
दिये है इश्क़ में इतने दर्द ऐ गम,
फिर भी उन्ही की खुशियों की फरियाद करता है.,

 

अपनी बेबसी पर आज फिर मुझे रोना आया,
दुसरो को नहीं मैंने तो अपनों को आजमाया,
मैंने हर एक दोस्त की तन्हाई दूर की,
फिर भी खुद को हर मोड़ पर तनहा ही पाया.,

 

ना पूछ कैसे पलों से गुजर रहा हूँ मैं,
इसे जीना ना समझ मर रहा हूँ मैं,
तेरी जुदाई सताती है लौटकर आजा,
बहुत कमीं तेरी महसूस कर रहा हूँ मैं.,

 

मुझको रुलाकर वो भी रोया तो होगा,
मुँह आंसुओ से उसने भी धोया तो होगा,
अगर ना किया है हासिल कुछ हमने प्यार में,
कुछ ना कुछ उसने भी खोया तो होगा.,

 

खुशियों से नाराज़ है मेरी ज़िंदगी,
प्यार की मोहताज़ है मेरी ज़िंदगी,
हंस लेता हूँ लोगों को दिखाने के लिए,
वरना दर्द की किताब है मेरी ज़िंदगी.,

 

gam shayari

 

माना के किस्मत पे मेरा कोई जोर नहीं,
पर ये सच है के मोहब्बत मेरी कमजोरी नहीं,
उसके दिल में, यादों में कोई और है लेकिन,
मेरी हर साँस में उसके सिवा कोई नहीं.,

 

ज़िंदा हूँ मगर ज़िंदगी से दूर हूँ,
मैं आज क्यूँ इस कदर मजबूर हूँ,
बिना जुर्म के ही सज़ा मिलती है मुझे,
किससे कहूं के आखिर बे कसूर हूँ मैं.,

 

हमसे खेलती रही दुनिया ताश की पत्तो की तरह,
जो जीता उसने भी फेंका जो हारा उसने भी फेंका.,

 

दिल की धड़कनों को एक लम्हा सबर नहीं,
शायद के उसको मेरी जरा भी कदर नहीं,
हर सफर में मेरा कभी हमसफ़र था वो,
अब सफर तो है मगर वो हमसफ़र नहीं.,

 

वो मिल जाते हैं कहानी बनकर,
दिल में बस जाते हैं निशानी बनकर,
जिन्हे हम रखते हैं अपनी आँखों में,
क्यू निकल जाते हैं वो पानी बनकर.,

 

Gam Shayari

 

काश ये ज़ालिम जुदाई ना होती,
रब तूने ये चीज़ बनाई ना होती,
ना हम उनसे मिलते ना ये प्यार होता,
ज़िंदगी जो अपनी थी परायी ना होती.,

 

आंसू एक अजीब कहानी है,
ख़ुशी और गम दोनों की निशानी है,
समझने वालों के लिए अनमोल है,
और ना समझने वालो के लिये पानी है.,

 

बड़ी कोशिश के बाद उसे भुला दिया,
उसकी यादों को सीने से मिटा दिया,
एक दिन फिर उसका पैगाम आया,
लिखा था मुझे भूल जाओ,
और मुझे हर लम्हा याद दिला दिया.,

 

कितना दर्दनाक था वो मंजर जब हम बिछड़े थे,
उसने कहा था की जीना भी है और रोना भी नहीं.,

 

किसी दर्द को संभाल पाना आसान नहीं,
हँसते हुए हर पल बिता पाना आसान नहीं,
ज़िंदगी में हर कोई दिल में नहीं बस पाता,
और उस एक बसे हुए को भूल पाना आसान नहीं.,

 

हँसते हँसते कितने लोगों को हंसा दिया,
हँसते हँसते कितने ही ग़मों को छिपा लिया,
हंस कर गया कोई हमारे पर इस तरह,
की हमने ज़िंदगी भर हंसना भुला दिया.,

 

दर्द को भी दर्द होने लगा,
खुद ही मेरे घाव धोने लगा,
दर्द के लिये मैं ना रोया,
लेकिन दर्द मुझे छू कर खुद रोने लगा.,

 

कैसे बयां करूँ अल्फ़ाज़ नहीं है,
दर्द का मेरे तुझे एहसास नहीं है,
पूछते हो मुझसे क्या दर्द है मुझे,
दर्द यह है की तू मेरे पास नहीं है.,

 

तेरे बिना कितनी अकेली है ज़िंदगी,
उलझी हुई सी एक पहेली है ज़िंदगी,
बड़ी ही शिद्द्त से बनाई हुई,
तेरी यादों की हवेली है ज़िंदगी.,

 

उनके साथ चंद महीनों का अनुभव, मेरे कई सालों पर भारी पड़ गया.,

 

जब किसी से प्यार हद से,
ज्यादा होने लगे तो वो,
प्यार खुशियों की जगह,
गम देने लगता है.,

 

gam shayari

 

गम की बारिश ने भी,
तेरे नक्स को धोया नहीं,
तू ने मुझ को खो दिया,
मैंने तुझे खोया नहीं.,

 

तेरे गम को अपनी रूह में उतार लूँ,
ज़िन्दगी तेरी चाहत में सवार लूँ,
मुलाकात हो तुझ से कुछ इस तरह,
तमाम उम्र बस एक मुलाकात में गुजार लूँ.,

 

हजारो गम है सीने मे,
मगर शिकवा करें किससे,
इधर दिल है तो अपना है,
उधर तुम हो तो अपने हो.,

 

दर्द है दिल में पर इसका एहेसास नही होता,
रोता है दिल जब वो पास नही होता,
बर्बाद हो गये हम उसके प्यार मे,
ओर वो कहते हैं इस तरह प्यार नही होता.,

 

रिश्ते किसी से कुछ यूं निभा लो,
की उसके दिल के सारे गम चुरा लो.,

 

सच्चा प्यार था संभलने मे कुछ वक़्त,
तो जरुर लगेगा साहब,
हर चीज प्यार तो नहीं,
की एक पल में हो जाए.,

 

चाहे कोई जैसा भी हसफ़र हो सदियों से,
रास्ता बदलने में देर कितनी लगती है,
ये तो वक़्त के बस में है, की कितनी मोहलत दे,
वरना वक़्त ढलने में देर कितनी लगती है.,

 

ये सच्चाई है कि इश्क से लोग डरते हैं,
क्योकि प्यार में दिल तड़प कर रह जाता है,
आसू तो हम छुपछुप कर बहा लेते हैं ,
पर दर्द ए दिल हर किसी को पता चल जाता हैं.,

 

एक बात समझाई है.जिंदगी में मुझे,
कभी कभी जिंदगी के तलाश में,
सामना मौत से भी हो जाता हैं.,

 

मैं समझ जाता मोहब्बत,
अगर हमे वो मिल जाती,
पर अच्छा हुआ नहीं मिली,
अगर मिल जाती तो,
ये शायरी न बन पाती.,

 

आपके न होने से, ज़िन्दगी उदास है,
पर इस दिल को तो अब भी मिलने की आस हैं,
घाव नहीं हैं पर जख्म का एहसास हैं,
कभी कभी तो महसूस होता हैं,
मेरा दिल अब भी आपके पास है.,

 

बेताब हम भी थे दर्द जुदाई की कसम,
रोता वो भी होगा नज़रें चुरा चुरा कर.,

 

गहरी रात भी थी हम डर भी सकते थे,
हम जो कहे ना सके वो कर भी सकते थे,
तुम ने साथ छोड़ दिया हमारा ये भी ना सोचा,
हम पागल थे तेरे लिए मर भी सकते थे.,

 

जो नजर से गुजर जाया करते हैं,
वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं,
कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते,
बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं.,

 

gam shayari

 

माना कि तुझको मै हासिल ना कर सका,
मोहब्बत थी तुझसे बयां ना कर सका,
लेकिन किसी को पा लेना ही मोहब्बत नहीं होता,
चाहे मै तेरे काबिल ना रहे सका.,

 

वक़्त निकाल कर कभी कभी मिलने आ जाया करो,
क्यूंकि लोग कहते है सुकून के पल जीना भी ज़रूरी है.,

 

शुक्रिया तेरा मुझे मेरी औकात बताने के लिए,
प्यार को खेल और मुझे मजाक बनाने के लिए.,

 

उल्फत का अक्सर यही दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही अपने से दूर होता है.,
दिल टूटकर बिखरता है इस कदर,
जैसे कोई कांच का खिलौना चूर-चूर होता है.,

 

मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है,
ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है,
देकर वो आपकी आँखों में आँसू,
अकेले में वो आपसे ज्यादा रोता है.,

 

कोई बात किसी की भी अब बूरी नहीं लगती,
तेरी दूरी भी अब तो मुझे दूरी नहीं लगती,
हूं मसरूफ समेटने में ज़िन्दगी को इस तरह,
तेरी मौजूदगी भी इसमें अब जरूरी नहीं लगती.,

 

Conclusion

इस पोस्ट में आपको हमने स्पेशल Gam Shayari पढाई जो हम आशा करते की आपको बेहद पसंद आई होगी अगर हां तो आप अगली बार हमरी Hindi shayari की बाकि शयरी जरुर पढ़े.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *