50+ Udas Shayari in Hindi with Image | Udas Shayari

Udas Shayari – दोस्तों आज हम आपको कुछ स्पेशल Udas Shayari पढ़ाने जा रहे जो आपको बहुत ही ज्यादा पसंद आएगी क्योंकि आज के समय मे हर कोई छोटी – छोटी बाट पर गुस्सा होने लगता और इसी वजह से लोग बोलना भी बंद कर देते लेकिन इस चीज से कोई समाधान तो निकलेगा नहीं इस लिए आप इन सभी Udas Shayari की मदद से पहले तो उन लोगों को मन सकते हो जो आपसे उदास है।

फिर जब वह बोलने लगे तो आप उनसे अपनी गलती की माफी भी मांग सकते हो तो आइए पढे इन सभी Udas Shayari 2 Line को जो आपको बहुत ज्यादा पसंद आएगी साथ मे आप यह सभी Udasi Shayari अपने दोस्तों मे भी शेयर कर सकते है ताकि वह भी अपने किसी नाराज दोस्त को इन सभी Udas Shayari की मदद से मन सके।

 

Udas Shayari in Hindi

तो आइए सुरू करे पढ़ना इन सभी Udas Shayari in Hindi को और फिर इन सभी Udas Shayari को अपने दोस्तों मे शेयर करके उनको भी अपने उदास दोस्त को मनाने का मौका दे।

 

मैंने कब कहा तू मुझे गुलाब दे,

या फिर अपनी मोहब्बत से नवाज़ दे,

आज बहुत उदास है मन मेरा,

गैर बनके ही सही तू बस मुझे आवाज़ दे.,

 

मेरी हसी तो दिखावटी है,

असली उदासी तो मैने उसके पिछे छुपा रखी है,

क्या खूबी है मुस्कुराहट मे,

कितनी बखूबी से उदासी छुपा लेती है.,

 

आज खुदा ने फिर पूछा,
तेरा हसता हुआ चेहरा उदास क्यों है,
तेरी आँखों में प्यास क्यों है,
जिसके पास तेरे लिए वक़्त नहीं है,
वही तेरे लिए खास क्यों है.,

 

ऐ दोस्त जब भी तू उदास होगा,

मेरा ख्याल तेरे आस-पास होगा,

दिल की गहराईयों से जब भी करोगे याद हमें,

तुम्हें.. हमारे करीब होने का एहसास होगा.,

 

रोने से किसी को पाया नहीं जाता,

खोने से किसी को भुलाया नहीं जाता,

वक्त सबको मिलता है जिन्दगी बदलने के लिए,

पर जिन्दगी नहीं मिलती वक्त बदलने के लिए.,

 

इस तरह मिली वो मुझे सालों के बाद,

जैसे हक़ीक़त मिली हो ख़यालों के बाद,

मैं पूछता रहा उस से ख़तायें अपनी,

वो बहुत रोई मेरे सवालों के बाद.,

 

अपनी तो ज़िन्दगी है अजीब कहानी है,

जिस चीज़ की चाह है वो ही बेगानी है,

हँसते भी है तो दुनिया को हँसाने के लिए वरना,

दुनिया डूब जाये इन आखों में इतना पानी है.,

 

एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम,

दुसरे ही पल ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम,

जानते हो की लगता है डर तन्हाइयों से,

फिर भी बार बार तनहा छोड़ जाते हो तुम.,

 

जिंदगी में कभी उदास ना होना,
कभी किसी बात पर निराश ना होना,
ये जिंदगी एक संघर्ष है चलती ही रहेगी,
कभी अपने जीने का अंदाज ना खोना.,

 

अभी मसरूफ हूँ काफी कभी फुरसत में सोचूंगा,
के तुझको याद करने में मैं क्या क्या भूल जाता हूँ.,

 

उसका दावा भी उसकी तरह झूठा निकला,
वो कहता था, बिछडूगा तो मर जाऊँगा.,

 

Udas Shayari

 

एक ये ख्वाहिश के कोई ज़ख्म न देखे दिल का,
एक ये हसरत कि कोई देखने वाला होता.,

 

कितना इख्तियार था उसको अपनी इस चाहत पे,
इस लिए जब चाहा याद किया, जब चाहा भुला दिया.,

 

कुछ तो कम होते ये लम्हे मुसीबतों के,
तुम एक दिन तो मिल जाते दो दिन की ज़िन्दगी में.,

 

गैरों से कहा तुमने गैरों से सुना तुमने,
कुछ हमसे तो कहा होता कुछ हमसे तो सुना होता.,

 

जीने को तो जी रहे हैं उन के बगैर भी लेकिन,
सजा-ए-मौत के मायूस कैदियों की तरह.,

 

तुम्हारा क्या बिगाड़ा था जो तुमने तोड़ डाला है,
ये टुकड़े मैं नहीं लूँगा मुझे दिल बना कर दो.,

 

तुम्हारे पास नहीं तो फिर किसके पास है.
वो टूटा हुआ दिल आखिर गया कहाँ.,

 

तो ये तय है के अब उम्र भर नहीं मिलना,
तो फिर ये उम्र ही क्यूँ गर तुझसे नहीं मिलना.,

 

दिल-ए-नादान की ज़िद है के तेरा साथ रहे,
मर्ज़ी-ए-वक़्त कहता है के बिछड़ना होगा.,

 

न दिल का रोग था, न यादें थी, और न ही ये हिजर,
तेरे प्यार से पहले की नींदें भी कमाल की थी.,

 

बड़ी तब्दीलियाँ आईं हैं अपने आप में लेकिन,
तुझे याद करने की वो आदत नहीं गयी.,

 

बड़े सुकून से रुखसत तो कर दिया उसको,
फिर उसके बाद मोहब्बत ने इंतहा कर दी.,

 

 Prem Shayari

 

मरहम न सही, एक ज़ख्म ही दे दो,
महसूस तो हो के कोई हमें भूला नही.,

 

मुझको तो होश नहीं, तुमको खबर हो शायद,
लोग कहते हैं कि तुमने मुझे बर्बाद किया.,

 

मेरी यादों से अगर बच निकलो वादा है मेरा तुमसे,
मैं खुद दुनिया से कह दूंगा कमी मेरी वफ़ा में थी.,

 

मैं गुम रहती हूँ उसकी यादों के मेले में,
उसे दिल से भुलाना है, मगर फुरसत नहीं मिलती.,

 

ये किस मक़ाम पे सूझी तुझे बिछड़ने की,
अभी तो जा के कहीं दिन संवारने वाले थे.,

 

हमने सोचा के दो चार दिन की बात होगी लेकिन,
तेरे ग़म से तो उम्र भर का रिश्ता निकल आया,

 

हर त्यौहारों का अपना मिज़ाज होता है,
खुशियों का संदेशा हर एक को देता है.,

 

त्यौहारों का राजा हमारा देश है,
साथ रहो खुश रहो यही होली का संदेश है.,

 

करीब आओ दूरिया को थोड़ा कम करो,
मुट्ठी भर गुलाल तुम अपने हाथो से मेरे बालों में भरो,
मैं भी तुम्हरे गलो को चूम लू,
तुम भी मुझे अपने दुपट्टे में छुपा के बहो में भरो.,

 

होली क्या वो खूब खेलती है,
लगा कर गुलाल अपने लवों पे,
मेरे लवों पर रख देती है.,

 

रंग का त्योहार है होली,
ख़ुशी ख़ुशी मना लेना,
हम थोड़ी दूर है आपसे,
थोड़ी गुलाल मेरी तरस से लगा लेना.,

 

उस मोड़ से शुरू करनी है फिर से जिंदगी,
जहा सारा शहर अपना था और तुम अजनबी.,

 

Udas Shayari

 

बरसात होती हैं आँखों में जब याद तेरी आती हैं,
बहुत रोता हैं ये दिल मेरा जब दूर तू जाती हैं.,

 

दुनिया फ़रेब करके हुनरमंद हो गई,
हम ऐतबार करके गुनाहगार हो गए.,

 

नींद चुराने वाले पूछते हैं सोते क्यू नही,
इतनी ही फिक्र है तो फिर हमारे होते क्यू नही.,

 

एक  उम्र  है  जो  मुझे  बितानी  है  उसके  बगैर,
और  एक  रात  है  जो  मुझसे  कटती  नहीं.,

 

तेरी फुर्सतों को खबर कहाँ,
मेरी धडकने उदास हैं.,

 

अपने साथ हूँ न तेरे पास हूँ,
मैं कई दिनों से यूं ही उदास हूँ.,

 

जिसको आज मुझमे हजारो गलतिया नजर आती हैं,
कभी उसी ने कहा था तुम जैसे भी हो मेरे हो.,

 

मेरी गलती बस यही थी के मैंने हर,
किसी को खुद से ज़्यादा जरुरी समझा.,

 

Naraz Shayari

 

सच्ची मोहब्बत में प्यार मिले न मिले लेकिन,
याद करने के लिए एक चेहरा जरूर मिल जाता है.,

 

जरूरी नहीं जो ख़ुशी दे उसी से मोहब्बत हो,
प्यार तो अक्सर दिल तोड़ने वाले से भी हो जाता है.,

 

हमने मुहब्बत के नशे में आकर उसे खुदा बना डाला,
होश तब आया जब उसने कहा खुदा किसी एक का नही होता.,

 

फुर्सत में याद करना हो तो मत करना,
हम तन्हा ज़रूर है, मगर फज़ूल नही.,

 

जख़्म इतना गहरा हैं इज़हार क्या करें,
हम ख़ुद निशां बन गये ओरो का क्या करें,
मर गए हम मगर खुली रही आँखे हमरी,

क्योंकि हमारी आँखों को उनका इंतेज़ार है.,

 

तुजमे और मुजमे ज्यादा फर्क नहीं,
मैंने तेरे लिए अपने सपनो को भी ठुकरा दिया,
और तूने अपने सपनो और ख्वाहिशों के लिए,
मुझे ठुकरा दिया.,

 

क्या बात है,
सारे चुपचाप क्यूँ बैठे हो,
कोई बात दिल पे लगी,
या कहीं दिल लगा बैठे हो.,

 

धोखा दिया था जब तूने मुझे,
जिंदगी से में नाराज था,
सोचा की दिल से तुजे निकाल दूँ,
मगर कमबख्त दिल भी तेरे पास था.,

 

Udas Shayari

 

जो कभी डरा नहीं मुझे खोने से,
वो क्या अफसोस करता होगा मेरे ना होने से.,

 

हर किसी के नसीब में,
कहा लिखी होती हे चाहतें,
कुछ लोग दुनिया में आते है,
सिर्फ तन्हाइयों के लिए.,

 

वो तो अपना दर्द रो रो कर सुनाते रहे,
हमारी तन्हाइयों से भी आँख चुराते रहे,
हमे ही मिल गया खिताब ए बेवफा,
क्योंकि हम हर दर्द मुस्कुराकर छुपाते रहे.,

 

इत्तेफाक से यह हादसा हुआ है,
चाहत से मेरा वास्ता हुआ है,
दूर रह कर बड़ा बेताब था दिल,
पास आकर भी हाल बुरा हुआ है.,

 

सुनो वैसे तो तुम मेरी पहली पसंद हो,
मगर मैंने चाहा है तुम्हे,
अपनी आखरी मोहब्बत की तरह.,

 

हीरों से भरी इस दुनिया में हमने कांच ही कांच बटोरे हैं,
कितने लिखे फ़साने फिर भी दिल के सारे कागज़ कोरे है.,

 

इस पोस्ट में आपको हमने स्पेशल Udas Shayari पढाई जो हम आशा करते की आपको बेहद पसंद आई होगी अगर हां तो आप अगली बार हमरी Hindi shayari की बाकि शयरी जरुर पढ़े.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *